फरवरी 2017
अंक - 23 | कुल अंक - 54
प्रज्ञा प्रकाशन, सांचोर द्वारा प्रकाशित

प्रधान संपादक : के.पी. 'अनमोल'
संस्थापक एवं संपादक: प्रीति 'अज्ञात'
तकनीकी संपादक : मोहम्मद इमरान खान

हायकु

हायकु


पीपल आस
लौट आएँगे पाखी
गए प्रवास



नभ पटल
रवि की चित्रकारी
सुबह शाम



नभ सागर
मेघों की ये सीपियाँ
बिखेरे मोती



तृषित धरा
जल भर ले आये
मेघ मशक



रवि मिलन
साँझ है उतावली
फैला आलता



आया सावन
रोमांचित है धरा
हरित दूब



मेघ दुंदुभि
लय ताल के संग
झूमती बूँदें



बूँदें कहती
बुलबुला जीवन
क्षणिक ख़ुशी



खोले बटुआ
मेघ वारे धरा पे
रजत मोती



गगन मंच
बहुरूपिये मेघ
मन हर्षाते



पुष्प बगीचा
रंग भरे नमूने
धरा गलीचा



बूँदों का स्पर्श
महक उठी धरा
अंकुर उगे


- ज्योतिर्मयी पन्त

रचनाकार परिचय
ज्योतिर्मयी पन्त

पत्रिका में आपका योगदान . . .
हाइकु (1)